‘शब्दम्’ संस्था सिलाई कला के माध्यम से छात्रओं को बना रही है स्वावलम्बी।

दूरदराज के क्षेत्र से कई छात्राएं बाहर नहीं निकल पातीं, अतः उन गांव में सिलाई केन्द्र खोलकर शब्दम् ने महिलाओं को रोजगार देने का कार्य किया।

अभी तक कुल 20 हजार छात्राओं को रोजगार देने का कार्य किया, कई छात्राएं 15 से 20 हजार रू. प्रतिमाह अर्जित कर, अपने घर का कर रहीं हैं पालन-पोषण।

फोटो परिचय-

शब्दम् द्वारा संचालित विभिन्न सिलाई केन्द्रों की झलकियाँ।

शब्दम् द्वारा संचालित विभिन्न सिलाई केन्द्रों की झलकियाँ।

शब्दम् द्वारा संचालित विभिन्न सिलाई केन्द्रों की झलकियाँ।


shabdam hindi prose poetry dance and art

next article